पैरों के अल्सर को ना करे नजरअंदाज, हो सकती है गंभीर समस्या

पैर का अल्सर

पैर का अल्सर एक दुर्लभ बीमारी है जो बहुत से लोगों को प्रभावित करती है लेकिन ज्यादातर लोगों को पता भी नहीं होता कि यह मौजूद है। यह एक नस में रक्त के थक्के से शुरू होता है और समय के साथ थक्का अल्सर में बदल जाता है। यह वास्तव में दर्दनाक हो सकता है, और इसके कारण लोगों को कुछ गतिविधियों को करना बंद करना पड़ सकता है। पैर के छालों को ठीक होने में लंबा समय लग सकता है, यहां तक ​​कि उपचार के बाद भी।

पैर के छाले कई चीजों के कारण होते हैं, और उन्हें और अधिक गंभीर होने से रोकने के लिए उनका तुरंत इलाज करना महत्वपूर्ण है। अगर आपको पैर के छाले से मवाद या मवाद निकलता दिखाई दे तो जल्द से जल्द इसकी जांच करवाना जरूरी है। पैरों में छाले होने के कई संभावित कारण हो सकते हैं और यह जानना महत्वपूर्ण है कि वे क्या हैं।

क्रोनिक वीनस इंसफिसिएनसी

क्रोनिक वीनस इंसफिसिएनसी तब होती है जब आपकी नसों में दोषपूर्ण वाल्व होते हैं, जिसका अर्थ है कि आपका रक्त बाहर बहने के बजाय आपके पैरों में वापस आ जाता है। इससे आपकी नसों में तनाव पैदा हो सकता है, जिससे वे फट सकती हैं। इससे आपके पैरों में सूजन, खुजली और रूखी त्वचा हो सकती है। यदि त्वचा फट जाए तो आपके पैरों में छाले विकसित हो सकते हैं।

डायबिटीज

मधुमेह उच्च रक्त शर्करा का कारण बन सकता है, जिससे रक्त वाहिकाओं में वसा जमा हो सकती है। इससे वाहिकाएं छोटी हो सकती हैं, जिससे डायबिटिक न्यूरोपैथी हो सकती है। मधुमेह का सबसे गंभीर प्रभाव पैरों पर देखा जा सकता है, जहां पैरों के घाव भरने की प्रक्रिया धीमी हो सकती है।

हाई ब्लड प्रेसर

हाई ब्लड प्रेशर के कारण पैर के निचले हिस्से में अल्सर हो सकता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि त्वचा की मांसपेशियां बहुत संकरी हो जाती हैं, जिसका अर्थ है कि त्वचा को पर्याप्त रक्त नहीं मिल पाता है। इससे मृत त्वचा और अल्सर हो सकते हैं।

पेरिफेरल आर्टरी रोग

पीएडी एक ऐसी स्थिति है जो धमनियों में वसा के निर्माण का कारण बनती है। यह आपके पैरों में रक्त वाहिकाओं को संकीर्ण बना सकता है, जो पैर के अल्सर के उपचार को धीमा कर सकता है। मधुमेह के रोगियों में पीएडी विकसित होने की संभावना अधिक होती है।

पैरों मे अल्सर के लक्षण

आपके पैरों में खुजली महसूस हो सकती है और त्वचा टाइट हो सकती है। यह तब हो सकता है जब आपकी त्वचा अधिक कठोर हो जाती है। कभी-कभी लोगों को खड़े होने पर दर्द का अनुभव होता है। आपके पैर भी फूलने लग सकते हैं।

पैरों में अल्सर की समस्या हो जाती है। इस समस्या से निपटने के लिए सही इलाज जरूरी है। अगर आपको पैरों में कोई समस्या है तो डॉक्टर से सलाह लें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *