अगर आप भी सोडे ,काफी और चाय के है दीवाने तो हो जाएंगे टकले , जाने पूरी बात

सोडा ,चाय , काफी पहुँचाती है नुकसान

हाल ही में हुए एक अध्ययन से पता चला है कि बहुत से लोग अपनी खुद की आदतों के कारण गंजे हो रहे हैं। तनाव की वजह से कई लोगों के बाल झड़ जाते हैं, लेकिन यह समस्या लोगों को बार-बार परेशान करती रहती है। अगर आपसे कहा जाए कि आप अपनी आदतों की वजह से गंजे हो रहे हैं तो क्या आप यकीन करेंगे? हां यह सही है। कई लोगों के बाल उनकी अपनी आदतों की वजह से झड़ते हैं। बहुत से लोग अपने जीवन में विकसित होने वाली आदतों के कारण जल्दी गंजा हो रहे हैं। तनाव के कारण कुछ लोगों के बाल झड़ते हैं, लेकिन यह समस्या लोगों को बार-बार परेशान करती रहती है। अगर आपसे कहा जाए कि आप अपनी आदतों की वजह से गंजे हो रहे हैं तो क्या आप यकीन करेंगे? हां यह सही है। बहुत से लोग अपनी ही गलतियों के कारण गंजे हो जाते हैं।

रिसर्च से सामने आया यह मामला

हाल ही के एक अध्ययन में पाया गया है कि जो पुरुष हर दिन मीठा पेय पीते हैं, उन पुरुषों की तुलना में गंजे होने की संभावना 57% अधिक होती है, जो इन पेय का सेवन नहीं करते हैं। कोल्ड ड्रिंक, चाय और कॉफी पीने से भी गंजेपन का खतरा बढ़ जाता है। आमतौर पर लगभग 50% पुरुषों के बाल 50 साल की उम्र के बाद झड़ना शुरू हो जाते हैं और 25% के बाल 21 साल से पहले झड़ने लगते हैं। आमतौर पर कम उम्र में ही लोगों में बाल झड़ना शुरू हो जाते हैं।

मीठे से रहेंगे दूर तो बचे रहेंगे बाल

यह शोध चीन की सिंघुआ यूनिवर्सिटी, बीजिंग के शोधकर्ताओं ने किया है। अध्ययन में एक हजार से अधिक पुरुषों को शामिल किया गया था और उनके खाने-पीने का डेटा एकत्र किया गया था। इसके बाद डेटा का विश्लेषण किया गया और शोधकर्ताओं ने कुछ चौंकाने वाली बातें उजागर कीं। उनका कहना है कि गंजेपन से बचना है तो मीठे पेय पीने से बचना चाहिए। उनका यह भी कहना है कि अगर गंजेपन को सही समय पर पकड़ लिया जाए तो दवाओं की मदद से इसे रोका जा सकता है।

67% यंग आदमीयो मे मीठे की लत पाई गयी

18 वर्ष या उससे अधिक आयु के लगभग 67 प्रतिशत वयस्क हर दिन कम से कम एक मीठा पेय पीते हैं। इससे मधुमेह, उच्च कोलेस्ट्रॉल और उच्च रक्तचाप जैसी बीमारियों का खतरा बढ़ सकता है। इन बीमारियों को रोकने में मदद करने के लिए सभी को अपने आहार में चीनी की मात्रा को सीमित करने का प्रयास करना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *