कीटों डाइट मोटापे को करती है कम, लेकिन फॉलो करने से पहले जान ले इसके कुछ मिथ

कीटों डाइट

कीटो आहार एक लोकप्रिय आहार है जिसे लोगों को वजन कम करने में मदद करने के लिए बनाया गया है। कीटो मील में वसा की मात्रा अधिक होती है और कार्ब्स बहुत कम होते हैं। कीटो आहार का पालन करने के लिए, आपको यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि आप सही जीवनशैली में बदलाव का पालन कर रहे हैं। जब आप कुछ दिनों तक लगातार कार्ब्स के निम्न स्तर का सेवन करते हैं, तो आप किटोसिस नामक स्थिति में प्रवेश करते हैं। यह आपके शरीर को ऊर्जा के लिए वसा को तोड़ने का कारण बनता है। कीटो डाइट शुरू करने से पहले इसके बारे में कुछ सामान्य मिथकों को समझना जरूरी है।

कीटों डाइट से जुड़े अफवाह

कीटो आहार के बारे में कुछ मिथक हैं जिन पर लोग कभी-कभी विश्वास कर लेते हैं। उदाहरण के लिए, कुछ लोग सोचते हैं कि कीटो आहार केवल वजन घटाने के लिए उपयोगी है, लेकिन यह कुछ चिकित्सीय स्थितियों के प्रबंधन के लिए भी सहायक हो सकता है। इसके अतिरिक्त, कुछ लोग सोचते हैं कि कीटो आहार खतरनाक है और इससे स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं हो सकती हैं। हालांकि, कीटो आहार वास्तव में वजन कम करने और कुछ चिकित्सीय स्थितियों को प्रबंधित करने का एक बहुत ही उपयोगी तरीका है।

कीटों डाइट है हाई प्रोटीन और हाई फैट डाइट

जब हम ढेर सारा प्रोटीन खाते हैं तो हमारा शरीर कीटोसिस में नहीं रह पाता। ऐसा इसलिए है क्योंकि प्रोटीन के टूटने से ग्लूकोज निकलता है, जो एक प्रकार की ऊर्जा है। यदि हम पर्याप्त प्रोटीन नहीं खाते हैं, तो हमारा शरीर कीटोसिस में नहीं रह सकता है और हम थक सकते हैं।

होता हाई फैट डाइट जिसमे कोई भी फैट ले सकते है

कीटो आहार एक उच्च वसा वाला आहार है जिसमे आप किसी भी प्रकार का वसा नहीं खा सकते हैं, और आपको वसायुक्त भोजन, प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थ और जंक फूड खाने से बचना चाहिए। कीटो डाइट में आपको अपने साथ हेल्दी फैट्स लेने की जरूरत होती है।

कीटों डाइट से फैट बढ़ता है

आपके द्वारा खाए जाने वाले वसा की मात्रा महत्वपूर्ण है, लेकिन यह जानना भी महत्वपूर्ण है कि आप किस प्रकार के वसा का सेवन कर रहे हैं। इससे आपको वजन बढ़ने से बचने में मदद मिलेगी।

सिर्फ नॉन वेजिटेरियन इस डाइट को अपना सकते है

मांस, मछली और अन्य प्रकार के भोजन कीटो आहार का हिस्सा हैं। लेकिन, शाकाहारी भी इस आहार का पालन कर सकते हैं और इसमें नारियल तेल, एवोकाडो, नट्स, घी, और सब्जियां जैसे पालक, तोरी, और पत्तागोभी शामिल कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *