कोरोना से बचने के लिए आपको याद रखने होंगे ये 7 मूल मंत्र

कोरोना वायरस

कोरोना वायरस बहुत तेजी से फैल रहा है और इससे कई लोगों की मौत हो रही है। लोग बहुत चिंतित हैं, और सरकार इस वायरस को और अधिक फैलने से रोकने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। हालांकि, अभी तक सभी को टीका नहीं लगा है, इसलिए कुछ लोग अभी भी इस बात को लेकर चिंतित हैं कि कोरोना वायरस से कैसे बचा जाए। डॉक्टरों और विशेषज्ञों ने कोरोना वायरस होने के जोखिम को कम करने में मदद करने के लिए सात तरीके खोजे हैं, और ये सभी चीज़ें रोज़मर्रा की ज़िंदगी में की जा सकती हैं।

1.) लोगों से दूरी बना के रहे

जब कोई संक्रमित व्यक्ति खांसता या छींकता है, तो थूक के छोटे-छोटे टुकड़े हवा में उड़ जाते हैं। इन कणों में वायरस होते हैं, जो किसी को भी बीमार कर सकते हैं। वैज्ञानिकों ने पाया है कि जो लोग दूसरों के करीब रहने से बचते हैं, उनमें कोरोना वायरस होने की संभावना कम होती है। हालांकि, अगर आपको कोरोना वायरस हो जाता है, तो अन्य लोगों से दूर रहने से मदद नहीं मिल सकती है। कंपनियों ने इस संक्रमण को रोकने में मदद के लिए अपने कर्मचारियों को घर से काम करने का विकल्प दिया है।

2.) हमेशा पास मे रखे मास्क और सेनेटाइजर

कोविड-19 संक्रमण को रोकने के लिए, जब आप बाहर हों तो मास्क पहनना महत्वपूर्ण है। यदि आप मास्क नहीं पहनते हैं तो वायरस हवा के माध्यम से फैल सकता है और यह आपके नाक और मुंह के माध्यम से आपके फेफड़ों में प्रवेश कर सकता है। यदि आपको बाहर जाने की आवश्यकता है, तो मास्क पहनना सुनिश्चित करें और अपनी नाक और मुंह को ढक लें। यदि आप मास्क का उपयोग नहीं कर रहे हैं, तो इसे वापस बाल्टी में डालने से पहले इसे साबुन और पानी से अच्छी तरह साफ करना सुनिश्चित करें।

3.) धूप लेना है जरूरी

धूप आपके स्वास्थ्य के लिए अच्छी है क्योंकि यह आपके शरीर को विटामिन डी बनाने में मदद करती है। इससे आपको संक्रमण होने की संभावना कम होती है, और आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता भी मजबूत होती है। सूरज की रोशनी सफेद रक्त कोशिकाओं को बनाने में भी मदद कर सकती है, जो बीमारियों से लड़ती हैं। जब आप धूप में होते हैं तो कोरोना वायरस की गतिविधि कम हो जाती है, इसलिए कोरोना वायरस से बचने के लिए जितना हो सके धूप में बाहर रहना सबसे अच्छा है। आपको खूब पानी पीना चाहिए, पौष्टिक आहार लेना चाहिए और अतिरिक्त तरल पदार्थ लेने चाहिए।

4.) विटामिन सी है जरूरी

हर आदमी को पर्याप्त मात्रा में विटामिन सी मिलना चाहिए। कोरोना और फेफड़ों से जुड़े मरीजों को बचाने में इसका बड़ा योगदान रहा है। फेफड़े के मरीजों के लिए यह बेहद जरूरी है। इसलिए कोरोना से संक्रमित मरीजों को विटामिन सी दिया जाता है। यह फेफड़ों में जमा कफ को ढीला करता है। यह एक प्रतिरक्षा बूस्टर भी है। हर आदमी को अपने दैनिक जीवन में नींबू का प्रयोग अवश्य करना चाहिए। कोरोना से संक्रमित मरीजों को नींबू की चाय, दूध, ताजे फल, सब्जियां और पौष्टिक भोजन लेना चाहिए।

5. ) गर्म पानी जरूर पिये

गर्म पानी पीने से गले के संक्रमण से बचा जा सकता है। बैक्टीरिया को द्रवीभूत करके और इसे आपके फेफड़ों तक पहुंचने से रोककर, गर्म पानी कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने में सबसे प्रभावी है। यदि आप अभी कोरोनावायरस से संक्रमित हैं, तो अपने फेफड़ों में संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए ढेर सारा गर्म पानी पिएं। आपको किसी अन्य व्यक्ति के लिए भी इस सलाह का पालन करना चाहिए जो संक्रमित हो सकता है।

6.) भाप लेना है जरूरी

दिन में तीन बार भाप लेना कोरोना वायरस से बचने का सबसे सस्ता और सुलभ उपाय है। इसमें कोई बुराई नहीं है। बहुत फायदा होता है। कोविड-19 में भाप के इस्तेमाल पर इटली में एक अध्ययन हुआ है। अध्ययनों में पाया गया है कि यह स्पाइक प्रोटीन को नुकसान पहुंचाता है। इस वजह से वायरस सेल में प्रवेश नहीं कर पाता है। इस वजह से वायरस शरीर के अन्य अंगों को प्रभावित नहीं कर पाता है। भाप लेने से निमोनिया की घटनाओं में कमी पाई गई है। मृत्यु दर भी कम है। कोरोनावायरस से बचाव का यह सबसे अच्छा तरीका है। बीमार लोग जल्दी ठीक हो जाते हैं।

7.) एक्सर्साइज़ और व्यायाम करते रहे

व्यायाम आपके शरीर को प्रतिरक्षा बनाने में मदद करता है, जिससे फ्लू होने पर आपके बीमार होने की संभावना कम हो जाती है। व्यायाम करने का सबसे अच्छा तरीका बाहर टहलना है, क्योंकि इस प्रकार के व्यायाम से आपकी सांस लेने की क्षमता सबसे अधिक बढ़ जाती है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार महामारी काल में अगर आपने मास्क पहन रखा है तो व्यायाम करने से बचना चाहिए और कोरोना (फ्लू) काल में अधिक से अधिक गतिविधि करने का प्रयास करना चाहिए। हालाँकि, यदि आप एक एथलीट हैं, तो योग, प्राणायाम और अन्य प्रकार के व्यायाम भी प्रतिरक्षा के निर्माण में सहायक होते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *